हिंदी दिवस

Remember our times, जब school में हिंदी बोलने पर fine था,
मेरी स्कूल में हफ्ते के एक रोज़ अंग्रेज़ी बोलने पर भी फाइन था।
शायद इसलिए मेरे लिए अंग्रेज़ी और हिंदी महज़ भाषाएं हैं, स्टेटस symbol nhi.

And before I proceed further,
I have to give a disclaimer.
This is my opinion, yours might differ.
And I agree to disagree, for that matter.
I don’t have any problems with any language,
Nor I am I biased,
for these are pure and pious
Meant to share our views and
Our emotions express.

In other words,

भाषा बात चीत का साधन है,
जस्बात बयान करता संसाधन है।

Peach, Indigo, violet & grey
बोलते हैं हमारे बच्चे
बच्चों की इसमें क्या है खता?
अंग्रेज़ी अल्फ़ाज़ ही हम सीखाते
और जाने अनजाने में हिंदी से दूरियां बढ़ाते। 
करारा व्यंग्य है, पर आपको लगेगा pun intended.
As that is how things are trending.
Islye अंग्रेज़ी सीखाओ पर
हिंदी मत भुलाओ।

बड़े बुजुर्गो से baat krne ka
अपने सपनों में रंग भरने का feel hindi me aata है
हम बात भले अंग्रेज़ी में करें पर झगड़े का feel hindi me aata है।
Slangs में वो बात कहां जो गाली में है,
Oh shit! Freak! नहीं अब्बे ओए साली में है।
Pop, hip-hop me नहीं, ग़ज़ल कव्वाली में है।
Swings में नहीं, सावन के झूले की डाली में है।
Islye दोस्तों,अंग्रेज़ी सीखाओ पर
हिंदी मत भुलाओ।
दोनों भाषाएं हैं,
इनके बीच की खाई और ना बढ़ाओ।

हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं 🙏

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s